गुरुवार, 10 मई 2018

ऐसी शिक्षा नीति

हमको तो अब चाहिये, ऐसी शिक्षा नीति ।
राष्ट्र प्रेम संस्कार का, जो समझे हर रीति ।।
जो समझे हर रीति, आत्म बल कैसे देते ।
कैसे शिक्षित लोग, सफल जीवन कर लेते ।
शिक्षा का आधार, हरे जीवन के गम को ।
कागज लिखे प्रमाण, चाहिये ना अब हमको ।।
एक टिप्पणी भेजें