सोमवार, 14 मई 2018

मदिरा पीना क्या पीना है

मदिरा पीना भी क्या पीना है
ऐसा  जीना भी क्या जीना है
पीना है तो दुख पीकर देखो
फिर कहना चौड़ा यह सीना है

एक टिप्पणी भेजें