रविवार, 5 मार्च 2017

नर-नारी एक समान

नर
बेटा है
प्रेमी है, पति है
दामाद है
पिता है
दादा है
दादी है
विदुर भी है
कि
राष्ट्रपिता है
विवेकानंद भी
और
कालों के काल
महादेव ।
महादेव
अर्धनारीश्वर
बन कर
बतलाया
नर-नारी
एक समान
न नर भारी
न नारी ।।
-रमेशकुमार सिंह चौहान
एक टिप्पणी भेजें