गुरुवार, 13 नवंबर 2014

मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

ग्वाला रे गोकुल के
हाहा हाहा हाहा
गोकुल के ग्वाला, गोकुल के ग्वाला
छेड़े है मुख लगाये घोले रे हाला मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

किशोरी रे बृज के
हाहा हाहा हाहा
बृज के राधा, बृज के राधा
फंस गई ओ तो प्रेम के व्याधा रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

राधा  रे श्याम के
हाहा हाहा हाहा
 ष्याम के दिवानी, श्याम के दिवानी
सुध बुध भुले सुन तान सुहानी रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

धेनु रे गोकुल के
हाहा हाहा हाहा
गोकुल धेनु, गोकुल के धेनु
ग्रास छोड़ धाये सुने जब वेणु रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

डाली रे कदम के
हाहा हाहा हाहा
कदम के डाली, कदम के डाली
आसन  बन कान्हा के नाचे रे मतवाली मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

गोपी रे गोकुल के
हाहा हाहा हाहा
गोकुल के गोपी, गोकुल के गोपी
बेसुध भई जल गागर रोकी रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से
मुरली से कोई बाचे न बचे रे मुरली से

एक टिप्पणी भेजें