गुरुवार, 10 मई 2018

मन में एक सवाल है

मन में एक सवाल है, उत्तर की दरकार ।
आखिर कब से देश में, पनपा भ्रष्टाचार ।।
पनपा भ्रष्टाचार, किये नेता अधिकारी ।
एक अँगूठा छाप, दिखे क्या भ्रष्टाचारी ।।
शिक्षित लोग "रमेश",  इसे फैलाये जन में ।
कैसी शिक्षा नीति, सोच कर देखें मन में ।।
एक टिप्पणी भेजें