मंगलवार, 5 जनवरी 2016

सहमे आतंक से


ये
आग
बुझाये
कौन ? कैसे ?
फैल रहा है
आतंक ! आतंक !
जेहादी जुनून से।।1।।


या
मौला
या रब
कौन करे ?
फतवा जारी
मौला बैठे मौन
सहमे आतंक से  ।।2।।

एक टिप्पणी भेजें