गुरुवार, 7 अगस्त 2014

सावन (गीतिका छंद)

हर हर महादेव
.....................
माह सावन है लुभावन, वास भोलेनाथ का ।
आरती पूजा करे हम, व्रत भी भोलेनाथ का ।।
लोग पार्थिव देव पूजे, नित्य नव नव रूप से ।
कामना सब पूर्ण करते, ले उबारे कूप से ।।

-रमेशकुमार सिंह चौहान
एक टिप्पणी भेजें